सिनाबंग ज्वालामुखी

राज्य लोक सेवा आयोग संघ लोक सेवा आयोग

हाल ही में इंडोनेशिया में माउंट सिनाबंग (Mount Sinabung) जो कि जागृत ज्वालामुखी है, में विस्फोट हुआ है।

  • सिनाबंग ज्वालामुखी उत्तरी सुमात्रा प्रांत के कारो ज़िले में स्थित है। इसकी ऊंचाई 2,475 मीटर है।
  • यह दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के प्रमुख जागृत ज्वालामुखियों में से एक है।
  • बीते लगभग 400 वर्षों तक सिनाबंग ज्वालामुखी सुषुप्तावस्था में था, लेकिन हालिया विस्फोट से पूर्व वर्ष 2010 में भी इसमें अचानक विस्फोट हुआ था।
  • इंडोनेशिया में ऐसी ज्वालमुखी घटनाएँ होनी सामान्य बात है क्योंकि यह देश प्रशांत महासागर के ‘रिंग ऑफ फायर’ पर स्थित है जहाँ पर विवर्तनिक प्लेटों के आपस में टकराने के फलस्वरूप भूकंपीय और ज्वालमुखी घटनाएँ घटित होना एक सामान्य बात मानी जाती है।
  • 75% या 750 से अधिक ज्वालामुखी रिंग ऑफ फायर पर स्थित हैं और 90% भूकंप इन्हीं विवर्तनिक प्लेटों के कारण आते हैं।
  • जावा, बाली और कई अन्य इंडोनेशियाई द्वीपों के ज्वालामुखी ऑस्ट्रेलिया और सुंडा टेक्टोनिक प्लेटों के बीच टकराव के कारण निर्मित हुए हैं। सुंडा-जावा ट्रेंच (Sunda-Java Trench) का निर्माण ऑस्ट्रेलिया प्लेट (Australia Plate) एवं सुंडा प्लेट (Sunda Plate) के बीच टकराव से होता है जिसमें ऑस्ट्रेलिया प्लेट सुंडा प्लेट के नीचे आ जाती है।
  • ऑस्ट्रेलिया प्लेट जब लगभग 100 मील की गहराई तक पहुँच जाती है, तब यह पिघलने लगती है एवं गर्म और पिघला हुआ पदार्थ सतह से ऊपर की ओर बढ़ने लगता है, जिससे इंडोनेशियाई ज्वालामुखी में विस्फोट हो जाता है।

जागृत ज्वालामुखी

  • यह ज्वालामुखी लंबा एवं शंक्वाकार होता है जो कठोर लावा, टेफ्रा की पर्तों से मिलकर बना होता है।
  • इन ज्वालामुखियों में होने वाले विध्वंसक विस्फोट इनकी प्रमुख विशेषता है।.
  • इससे निकलने वाले लावा की श्यानता बहुत अधिक होती है, जिस कारण यह ठंडा होने के बाद ज़्यादा कठोर हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *