अध्याय 1 : राष्ट्र निर्माण और एकीकरण : प्रक्रिया और चुनौतियां

Polity भारतीय संविधान एवं भारतीय राजव्यवस्था राज्य लोक सेवा आयोग संघ लोक सेवा आयोग

परिचय :

15 अगस्त 1947 को भारत में अंग्रेजी साम्राज्य का अंत हो गया तथा भारत ने स्वतंत्रता प्राप्ति की। हालांकि यह स्वतंत्रता देश के विभाजन के कीमत पर प्राप्त हुई थी। नवजात राष्ट्र का एक बहुत बड़ा हिस्सा सांप्रदायिक दंगों की चपेट में था। 2 नए देशों की सीमाओं के आर-पार विशाल जनसमूह का पलायन हो रहा था। भोजन एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों का अभाव हो रहा था और प्रशासनिक तंत्र टोटका समाप्त हो जाने का खतरा मंडरा रहा था।

यह भौगोलिक रूप से विस्तृत और विविधता से परिपूर्ण विशाल देश था। समाज सदियों के पिछड़ेपन द्वेष पूर्वाग्रह असमानता और निरक्षरता से पीड़ित था। औपनिवेशिक शासन और उद्योगों के सदियों के उत्पीड़न के बाद आर्थिक क्षेत्र में गरीबी थी और काशी की दशा अच्छी नहीं थी। इस समय भारत के सम्मुख तात्कालिक समस्या निम्नलिखित थी –

  • देसी रियासतों का विलय एवं क्षेत्र और प्रशासनिक एकीकरण
  • विभाजन के साथ चल रहे सांप्रदायिक दंगों पर नियंत्रण
  • पाकिस्तान से आए 60 लाख शरणार्थियों का पुनर्वास
  • सांप्रदायिक गिरोहों से मुसलमानों की सुरक्षा
  • पाकिस्तान के साथ युद्ध से बचाव और कम्युनिस्ट विद्रोह पर नियंत्रण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *