इस्सी सानेक : नई डायनासोर प्रजाति

राज्य लोक सेवा आयोग संघ लोक सेवा आयोग

चर्चा में क्यों?

हाल ही में शोधकर्त्ताओं ने 214 मिलियन (पूर्व ट्राइसिक युग) वर्ष पूर्व ग्रीनलैंड पर निवास करने वाली पहली डायनासोर प्रजाति की खोज की है।

हा

प्रमुख बिंदु

खोज:

  • वर्ष 1994 में हार्वर्ड विश्वविद्यालय के जीवाश्म वैज्ञानिकों ने पूर्वी ग्रीनलैंड में खुदाई के दौरान दो अच्छी तरह से संरक्षित डायनासोर खोपड़ी का पता लगाया था।
  • नमूनों में से एक मूल रूप से प्लेटोसॉरस (Plateosaurus) प्रजाति से संबंधित माना जाता था जो जर्मनी, फ्राँस और स्विट्रज़लैंड में पाया जाने वाला एक प्रसिद्ध लंबी गर्दन वाला डायनासोर था।
  • शोधकर्त्ताओं ने निर्धारित किया है कि यह एक नई प्रजाति है, जिसे ‘इस्सी सानेक’ (Issi Saaneq) नाम दिया गया है।

परिचय:

  • यह एक मध्यम आकार का, लंबी गर्दन वाला डायनासोर, सॉरोपोड्स का पूर्ववर्ती था जो अब तक का सबसे बड़ा भूमि पर पाया जाने वाला जानवर है।
  • इस्सी सानेक अब तक खोजे गए अन्य सभी सॉरोपोडोमोर्फ से अलग है, लेकिन ब्राज़ील में पाए जाने वाले डायनासोर से इनमें कुछ समानताएँ पाई जाती हैं, जैसे मैक्रोकोलम (Macrocollum) और उनायसॉरस, (Unaysaurus) जो लगभग 15 मिलियन वर्ष पुराने हैं।
  • यह उत्तर दिशा में 40 डिग्री से अधिक ऊँचाई पर पाएँ जाने वाला पहला सैरोपोडोमोर्फ था।
  • ग्रीनलैंड की इनुइट (Inuit) भाषा में नए डायनासोर का नाम का अर्थ है ‘कोल्डबोन’ (coldbone)।
  • इनुइट भाषा, जो एस्किमो भाषाओं का नॉर्थ-इस्टर्न डिवीजन है। यह भाषा उत्तरी अलास्का, कनाडा और ग्रीनलैंड में बोली जाती है।

खोज का महत्त्व:

  • नई प्रजाति पृथ्वी के इतिहास में एक महत्त्वपूर्ण समय के दौरान रहती थी। यह शोधकर्त्ताओं को उस समय के अनुसार जलवायु परिवर्तन को समझने में मदद करेगा।
  • मुख्यत: ग्रीनलैंड के लिये यह एक अद्वितीय नई प्रजाति महत्त्वपूर्ण है, क्योंकि यह शोधकर्त्ताओं को पूर्व-ट्रायसिक डायनासोर की पहुँच के बारे में और साथ ही साथ सॉरोपोड्स कैसे विकसित हुआ, इसके बारे में अधिक समझने में मदद करता है।
  • इस्सी सानेक की खोज प्लेटोसॉरिड सॉरोपोडोमोर्फ (Plateosaurid Sauropodomorphs) के विकास के बारे में ज्ञान को व्यापक बनाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *