भारतीय रिजर्व बैंक

Indian economy संघ लोक सेवा आयोग

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की स्थापना वर्ष 1935 में (RBI Act, 1934) एक निजी बैंक के रूप में की गई थी। इसे सामान्य व्यवसाय बैंकिंग व्यवसाय के साथ अन्य दो कार्य – भारत में विद्यमान बैंकों का नियमन तथा नियंत्रण करना एवम सरकार के बैंक की भूमिका निभाना भी दिए गए थे। भारत सरकार द्वारा वर्ष 1949 में इसका राष्ट्रीयकरण (इसके शत प्रतिशत शेयर निजी स्वामित्व से खरीद लिए गए) कर दिया गया तथा इसे विश्व के अन्य देशों की तरह ‘केंद्रीय बैंकिंग निकाय’ (Central Banking Body) का दर्जा प्रदान किया गया। इसके साथ ही RBI तकनीकी तौर पर एक ‘बैंक’ नही रह गया (अर्थात यह सामान्य बैंकिंग व्यवसाय नहीं कर सकता)। RBI राष्ट्रीयकरण अधिनियम तथा आने वाले समय की अपनी कई घोषणाओं के माध्यम से सरकार द्वारा इसे कई कार्य (Functions) सौंपे गए, जिनका विवरण निम्न प्रकार है :

Next Article me sare functions mains aur pt ke according bataye jayege

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *