अध्ययन की प्रासंगिकता :

Ethics संघ लोक सेवा आयोग

एक सिविल सेवक को संस्थागत स्तर पर अपने कर्मियों का नेतृत्व करना होता है, उनमें टीम भावना जागृत करनी होती है तभी वह अपने लक्ष्य प्राप्ति की ओर अग्रसर हो पाएगा। इस रूप में इनकी भूमिका संस्था स्तर पर नेता के रूप में होती है। अतः महान नेताओं के जीवन और उपदेशों को पढ़कर एक अभ्यर्थी नेतृत्व के गुण को सीख सकता है।

जब एक सिविल सेवक नीति का क्रियान्वयन कर रहा होता है तब वह उसके माध्यम से समाज में नवीनतम मूल्यों की स्थापना करता है। अतः वह भी एक समाज सुधारक के भांति ही कार्य करता है। अतः समाज सुधारक के जीवन और उद्देश्यों में वह समाज सुधार की तकनीक सीख सकता है। एक प्रशासक के जीवन में प्रशासनिक चुनौतियों के दौरान अपने उत्तरदायित्व निर्वहन की तकनीक को सीख सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *