आईएनएस ‘वेला’

राज्य लोक सेवा आयोग संघ लोक सेवा आयोग

स्वदेशी रूप से निर्मित स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी ‘वेला’ को हाल ही में आधिकारिक तौर पर नौसेना में कमीशन कर लिया गया है। इस पनडुब्बी का निर्माण ‘मैसर्स नेवल ग्रुप’ (फ्राँस) के सहयोग से ‘मझगाँव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड’ (मुंबई) द्वारा किया गया है। ‘मझगाँव डॉक लिमिटेड’ शिपयार्ड रक्षा मंत्रालय के तहत एक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है। ध्यातव्य है भारतीय नौसेना के कार्यक्रम ‘प्रोजेक्ट-75’ के तहत छह ‘स्कॉर्पीन श्रेणी’ की ‘अटैक सबमरीन’ का निर्माण किया जाना है। कलवरी, खंदेरी और करंज के बाद आईएनएस वेला इस शृंखला की चौथी पनडुब्बी है। इसके निर्माण के विभिन्न चरणों के दौरान रक्षा उत्पादन विभाग (रक्षा मंत्रालय) और भारतीय नौसेना द्वारा समर्थन प्रदान करना है। मई 2019 में लॉन्च की गई सबमरीन ‘वेला’ ने कोविड-प्रेरित प्रतिबंधों के बावजूद हथियार और सेंसर परीक्षणों सहित सभी प्रमुख बंदरगाह एवं समुद्री परीक्षणों को पूरा कर लिया है। ‘प्रोजेक्ट-75’ के तहत शामिल स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बियाँ ‘डीज़ल-इलेक्ट्रिक प्रोपल्शन सिस्टम’ द्वारा संचालित होती हैं। स्कॉर्पीन सर्वाधिक परिष्कृत पनडुब्बियों में से एक है, जो एंटी-सरफेस शिप वॉरफेयर, पनडुब्बी-रोधी युद्ध, खुफिया जानकारी एकत्र करने और क्षेत्र विशिष्ट निगरानी जैसे मिशनों को पूरा करने में सक्षम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *